ये कहानी आपकी जिंदगी बदल सकती है || 2 Best Motivational story in Hindi||

  2. Motivational story in hindi
हेलो दोस्तों 
     मैं बम बम आप सभी का स्वागत करता हूं।
 मैं अक्सर यूट्यूब पर मोटिवेशनल वीडियो या फिर मोटिवेशनल कहानियां पढ़ना बहुत पसंद करता हूं, मुझसे किसी ने सवाल पूछा इतना Motivational story पढ़कर क्या होता है मैंने उससे कहा Motivational story से हमें दूसरों की गलतियों का पता चलता है ताकि आगे से हम गलती ना करें इसलिए मैं ज्यादा मोटिवेशन स्टोरी पढ़ता हूं।

1. हार कर भी खुद से जीत गया
  Motivational story in hindi

आज मैं आपको एक ऐसी मोटिवेशनल स्टोरी बताने जा रहा हूं जिसको पढ़ने के बाद आप खुद को ऊर्जावान महसूस करने लगेंगे।

यह कहानी है छोटे से गांव के रवि नाम की लड़का की। जब वह अपने बेड पर सो रहा था तभी उसे एक चींटी पर नजर पड़ा उसने देखा चींटी दीवार पर चढ़ने की बार-बार कोशिश कर रही है लेकिन कुछ दूर ऊपर जाती और फिर नीचे गिर जाती फिर वह ऊपर की ओर चलती फिर वह नीचेेे गिर जाती लगातार ऐसा उसने कई बार किया लेकिन उसने एक बार दीवार पर  चली गई।


रवि एक धावक बनना चाहता था उसने Race में भाग लिया था लेकिन वह बार-बार असफल हो जाता दौड़ नहीं पाता उसेे ऐसा महसूस हो रहा था कि मैं धावक  नहीं बन पाऊंगा  लेकिन  उस चींटी ने  उसकी जिंदगी ही बदल डाली उसने खुद से बोला यदि मैं दौड़ नहीं सकता तो चल तो सकता हूं उसने मन में यह ठान लिया अब मुझे दुनिया की कोई ताकत नहीं जो मुझे रोक ले और उसने लगातार दौड़ना शुरू किया और एक अच्छा सफल  धावक के रूप में  बन के दुनिया को बताया हार कर भी जीता जा सकता है।



जीत हमेशा सच्चाई की होती है
Motivational story in hindi

एक बार की बात है राजा ने मंत्री से कहा राज्य में जितने भी गरीब परिवार हैं सभी को अपने दरबार में बुलाओ और सभी को मुफ्त में अनाज दो। मंत्री ने पूरे राज्य में अलाउंस करवाया सभी गरीब परिवारोंं को मुफ्त मे अनाज दिया जाएगा। यह सुनते ही राज्य के सभी लोग अपने आप को गरीब मान कर राज्य दरबार जा पहुँचे।


राजा ने गरीब की संख्या देख कर भौचक्का रह गया। उन्होंने लग रहा था मुफ्त में अनाज के लिए अमीर लोग भी आ गये है, राजा ने एक शर्त रखी उन्होंने कहा अनाज का वितरण कल शाम होगी यह बात सुनकर उन गरीब केे समूहों में अनाज के लोभ से अमीर लोग शामिल हो गए थे उन लोगों ने सोचा कल तक कौन रुकेगा और वह अपनेेेेेेे घर वापस लौट गए फिर दूसरे रोज  ऐसा ही हुआ।


 राजा ने पुनः एक रोज का समय और बढ़ा दी है अब उनमें से जो भी अमीर लोग बच गए थे वह लोग सोचे घर में तो खाना है ही यह सोच कार वापस लौट गए लेकिन यह क्या अब उसके तीसरे रोज दरबार में सिर्फ जो गरीब थे वही बचे थे और राजा ने उन सभी गरीबों को मुफ्त मैं अनाज दिए।


इस कहानी से हमें क्या सीख मिलती है कहीं भी और कभी भी ईमानदारी पर रहना चाहिए आज नहीं तो कल फल जरूर मिलता है।

   खुदा ने बड़े अजीब से रिश्ते बनाते हैं
   सबसे ज्यादा उन्हीं को रुलाते हैं 
  जो इमानदारी से अपना कर्तव्य निभाते हैं।

दोस्तों यदि इसी काम को करते हैं तो सच्चाई से कीजिए तन मन धन के साथ कीजिए फल का चिंता मत कीजिए क्योंकि इंसान का कर्तव्य होता हैै कर्म करना और ईश्वर का काम है फल देना ।

Post a Comment

नया पेज पुराने